Saturday, 13 August 2016


 2011 में अस्तित्व मे आयी फेनिल कॉमिक्स, भारतीय कॉमिक्स के एक बहुत बड़े प्रशंषक और सूरत, गुजरात के व्यवसायी श्री फेनिल शेरडीवाला के निरंतर प्रयासों की देन है। लोगों को फेनिल कॉमिक्स से हमेशा से काफी उम्मीदें हैं पर बीच में इनका प्रोडक्शन बिलकुल ना के बराबर रहा एक तरह से फेनिल कॉमिक्स गायब हो गयी थी। फैन्स के मन में कई तरह के सवाल घुमड़ रहे होंगे जिनका जवाब लेकर आये हैं हम।  COP टीम ने फेनिल शेरडीवाला जी का एक साक्षात्कार लिया जिसमे उन्होंने अपनी व्यक्तिगत जिंदगी और कॉमिक्स से जुड़ी कई सारी बातें साझा कीं। तो आइये आइये पढ़ते हैं फेनिल कॉमिक्स की कहानी फेनिल शेरडीवाला जी की जुबानी।




1) फेनिल जी आप कॉमिक्स की दुनिया में क्यों और कैसे आये?

उत्तर- बात ज़रा पुरानी है, मैं 14 साल का था। तब स्कूल पीरियड में बोरिंग होने की वजह से एक रोबोट जैसा करेक्टर नोटबुक की बैकसाइड पर ड्रा किया था, जिसको मैंने फौलाद नाम दिया। स्कूल का वो एग्जाम के नजदीक का टाइम था। एग्जाम निपटा कर वेकेशन में वही पुरानी नोटबुक निकाली उसका आर्ट देखकर दिमाग में एक स्टोरी आई जो स्टोरी फौलाद थी। मैंने खुद 64 पेज की बुक इल्लस्ट्रेट कर ली। ड्राइंग बचकाना था लेकिन खुद की कॉमिक्स बनाने का एक मजा भी था। इस तरह फौलाद का जन्म हुआ। उसके ठीक 13-14 साल बाद यानि जब मैं 28 साल का था तब ऑरकुट पर सब खुद के कैरेक्टर्स ड्रा करके पोस्ट करते थे, मैंने फौलाद को पोस्ट किया। तब मेरे दिमाग में एक आईडिया आया क्यों न सीरियसली कॉमिक्स पब्लिश की जाये।  मैंने स्टोरी जमाने के साथ लिखी और फौलाद रिराइट कर उसको डेवेलप करके दिलीप सिंह जी से कॉमिक्स इल्लस्ट्रेट करवाई। बस हो गयी फेनिल कॉमिक्स की शुरूवात।  मैंने इसके अलावा 35 और कैरेक्टर डेवेलोप किए।


2) आपके फेन्स आपकी नई कॉमिक्स पढ़ने के लिए काफी आतुर रहते हैं। कॉमिक्स निकालने में इतनी देर क्यों हो रही है?

उत्तर- जी इस बात से मैं बिलकुल सहमत हूँ, एक्चुअली मैंने फेनिल कॉमिक्स सिर्फ शौकिया तौर पर शुरू की थी, लेकिन वो इतनी सफल हो जायेगी यानि फेन्स इतना पसंद करेंगे ये उम्मीद नहीं की थी। अब सबसे बड़ी दिक्कत मेरे सामने ये आई की टाइम पर आर्टवर्क बनाकर कॉमिक्स रिलीज़ करना। जो की इंडस्ट्री में नया होने की वजह से मेरे लिए इतना परफेक्ट ट्यूनिंग पर नहीं रहा। मैंने सोचा कैरेक्टर्स पॉपुलर हो रहे हैं फेन्स पसंद कर रहे हैं क्यों न 1-2 साल का ब्रेक लेकर सब कैरेक्टर्स को REVAMP किया जाये, बस मैंने सबको REVAMP किया और उसी दौरान कुछ क्रिएटिव से प्रोडक्शन करवाकर काफी कॉमिक्स रिलीज़ के लिए बनवा ली जिनको अब मैं रेगुलर यानि मंथली रिलीज़ कर सकता हूँ।


3) फेनिल की कॉमिक्स बाकि की कॉमिक्स कंपनीज़ से कैसे अलग है, मतलब क्या अलग है आपकी कॉमिक्स में?

उत्तर- (हँसते हुए) हा हा हा। वैसे एक बात बताना चाहूँगा की इंडिया में ट्रेंड है की सब खुद के कांसेप्ट पर काम कर रहे हैं। कोई माइथोलॉजी, कोई क्लासिक इल्लुस्टार्टेड, कोई हॉरर कांसेप्ट पर काम कर रहा है। सुपरहीरो बेस पर काम करने वाले पब्लिशर इंडिया में आज 2 ही हैं एक राज कॉमिक्स दूसरा फेनिल कॉमिक्स। फेनिल कॉमिक्स का सुपरहीरो यूनिवर्स राज कॉमिक्स के बाद सबसे बड़ा है। यही बात है की दूसरी कंपनी  से फेनिल कॉमिक्स अलग बनाती है।



4) भारतीय कॉमिक्स के बारे में आपके क्या विचार हैं? फेनिल जी आज की जेनरेशन कॉमिक्स से दूर जा रही है, इसके बारे में आप क्या कहेंगे?

उत्तर- इंडियन कॉमिक्स को आज स्ट्रांग प्लेयर्स, बिग फैन फॉलोविंग की जरुरत है तभी वो सही तरह बिज़नेस कर पायेगी। जेनेरेशन कॉमिक्स से दूर इसलिए जा रही है क्योंकि अब कॉमिक्स डिस्ट्रीब्यूशन पहले जैसा मजबूत नहीं रहा। बुक स्टैंड्स पर आज कॉमिक्स मिलना मुश्किल हो गया है।  दूसरी बात एंड्राइड, आईओएस जैसे स्मार्ट्फोन्स जिसके एप्स से आज की जेनेरेशन खुद को दूर नहीं कर पा रही है। तो यही एक रीज़न है जो इंडस्ट्री को कमजोर बना रहा है।


5) नई जनरेशन को कॉमिक्स से जोड़ने के लिए आपके पास क्या प्लान्स हैं?

उत्तर- USA  में  एक ट्रेंड आया है मार्वल, DC जैसे पब्लिशर की मूवीज पाइपलाइन में आई हैं। तो जो कॉमिक्स नहीं भी पढता था वो आज इनके कैरेक्टर्स के बारे में जानता है। इंडियन रीडर्स को कॉमिक्स से जोड़ने के लिए आज यही प्लान बचा है कि इंडियन कॉमिक्स कैरेक्टर्स के टीवी सीरीज, मूवीज और गेम्स मार्किट में आएं, ताकि ज्यादा लोग कॉमिक्स कैरेक्टर से जुड़े और बाद में कॉमिक्स से।


6) क्या आप मूवीज, टीवी सीरियल्स, एनिमेशन के बारे में भी सोच रहे हैं या कर रहे हैं?

उत्तर- भाग्यवश हम अभी इसपर काम कर रहे हैं  जिसका रिजल्ट फैंस को 3-4 महीनो में देखने को मिल सकता है।


7) हमने सुना है आप नए टैलेंट को भी बढ़ावा देने में विश्वास रखते हैं, आप उनका चयन किस आधार पर करते हैं?

उत्तर- जी आपने सही सुना है लेकिन कमबैक के साथ हमने पूरा गेमप्लान चेंज कर लिया है, हम अब ज्यादातर अनुभवी और वैलनोन चेहरों के साथ ज्यादा काम करेंगे। क्योंकि इसका एक फायदा हमने हमारे ब्रेक के दौरान ये सीखा है की आपको आर्टवर्क क्वालिटी परफेक्ट मिलेगी और टाइम पर मिलेगी। और नए टैलेंट के बारे में तो हम उन्हें अभी भी चान्स देंगे पर उनको जिनका ह्यूमन बॉडी एनाटोमी नॉलेज परफेक्ट हो और वो जो हमारा सैंपल वर्क हमारे एक्सपेक्टेड स्टाइल से हमें टाइम पर दे।


8) कॉमिक्स आपके लिए क्या है, अर्थात कॉमिक्स आपके जीवन में क्या भूमिका निभाती है?*

उत्तर- कॉमिक्स मेरे जीवन में मेरी वाइफ की सौतन है। कॉमिक्स मेरी पहचान है। कॉमिक्स मेरा जीवन है। जैसे किसी शराबी को दारू के बिना नहीं चलता ठीक उसी तरह कॉमिक्स को मैं सूँघता हूँ, मेरे लिए ये एक नशा है।

9) क्या आप कॉमिक्स से जुडी कोई अच्छी या बुरी याद हमसे शेयर करना चाहेंगे?

उत्तर- अच्छी बात ये है की बचपन में दोस्तों की कॉमिक्स लेकर कभी वापिस नहीं दी। बुरी बात ये है की अब लोग मेरी कॉमिक्स ले जाते हैं तो वापिस नहीं देते।

10) कॉमिक्स फील्ड में आपका सबसे पसंदीदा कैरेक्टर कौन सा है, फेनिल में और दूसरी कॉमिक्स इंडस्ट्री में?

उत्तर- फेनिल कॉमिक्स के सभी कैरेक्टर मेरे खुद के क्रिएट किये हुए हैं तो सभी मेरे बच्चे हैं जिनको मैंने जन्म दिया है। सच कहूँ तो सभी मेरे पसंदीदा हैं। फेनिल कॉमिक्स के अलावा मुझे कोई कैरेक्टर ज्यादा पसंद आते हैं तो वो हैं VALIANT ENTERTAINMENT का यूनिवर्स। ये यूनिवर्स सबसे बैलेंस्ड यूनिवर्स है आज की डेट में। एक फैंटम मेरा पसंदीदा कैरेक्टर है।

11) फेनिल जी कॉमिक्स फील्ड में क्या आपका कोई गुरु है, अगर हाँ तो किसे आप अपना गुरु मानते हैं?

उत्तर- कॉमिक्स फील्ड में मेरे गुरु राज कॉमिक्स के ओनर श्री संजय गुप्ता हैं, उनसे कई बातें सीखी हैं मैंने।

12) कॉमिक्स फील्ड में अब तक आपको किसके काम ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया है?

उत्तर- यहाँ बात कॉमिक्स इंडस्ट्री की है इसलिए मैं एक ही नाम लेना चाहूँगा स्टेन ली जो की एक लीजेंड हैं। जिनके मैक्सिमम कैरेक्टर आज भी स्क्रीन पर हैं। उन्होंने मुझे सबसे ज्यादा प्रभावित किया है।

13) कॉमिक्स को लेकर आने वाले समय में आपके क्या प्लान्स हैं? अपने आगे के प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से बताइये।

उत्तर- फ्यूचर प्लान्स काफी बड़े हैं लेकिन अभी की बात करूँ तो अभी मंथली रिलीज प्लान करके कमबैक किया है। आगे के प्रोजेक्ट के बारे में अनाउंसमेंट नहीं करूँगा क्योंकि अब मैंने स्ट्रेटजी बदली है। अब कॉमिक्स अनाउंसमेंट होगा कन्फर्म डेट के साथ। और हर चीज कन्फर्म डेट के साथ अनाउंस की जायेगी जिससे फैंस पर एक सही इम्प्रेशन जा सके फेनिल कॉमिक्स का। जैसे की हमने अगस्त रिलीज TASKARA किया। TASKARA 3 पार्ट की सीरीज होगी और आगे का भी कुछ प्लान है पर वो मैं सही वक्त आने पर ही बताऊंगा।

Taskara cover art


14) अंत में आप अपने फैंस को क्या सन्देश देना चाहेंगे?

उत्तर- कॉमिक्स खरीदिए और कॉमिक्स इंडस्ट्री को बचाइये।


तो ये हैं फेनिल सर जिन्होंने हमसे फेनिल कॉमिक और भारतीय कॉमिक्स से जुड़ी ढेर सारी बातें कीं। उम्मीद है आपको हमारा ये साक्षात्कार पसंद आया होगा।
भारतीय कॉमिक्स से के बारे में ऐसी ही रोचक जानकारियां देने के लिए हमारी टीम निरंतर प्रयासरत है।
So Keep Visiting

www.comicsourpassion.com

Post a Comment: