Monday, 25 July 2016


*माँ* जा चुकी थी पर *ब्रह्मा भाई* को अभी तक नींद नहीं आ रही थी । *ब्रह्मा भाई* ने सोचा चलो जरा पानी पी लेता हूँ ।ब्रह्मा भाई पानी पि रहे थे पर अभी भी उनके दिमाग में वो सपने वाली बात चल रही थी की तभी उनके हाथ अपने आप नीचे चले गए , अब खुजली होती ही है ऐसी चीज और *प्राकितिक* चीजो को रोकना थोडा मुश्किल होता है ।
😂😂

ब्रह्मा भाई अपने काम में व्यस्त थे की तभी उनकी नज़र फूटपाथ पर पड़ी जहाँ पांच साये उनके घर की और देख रहे थे ।

ब्रह्मा भाई सोच रहे थे की तभी उनकी नज़र फूटफाथ पर पड़ी और उन्होंने देखा वो पांचो साये गायब थे ।

वे थोडा डर गए और कुछ देर तक वही रहे हालाँकि उन्हें वो साया दोबारा नज़र नहीं आया इसलिए वे सोने चले गए ।

*सुबह*

"" *बमु बमु* बेटा उठो उठो देखो बाहर देखो , हमारे घर के बाहर किसी की लाश पड़ी है"" *माँ* बहुत हाँफते हुये बोल रही थी और उनके चेहरे पर ख़ौफ़ के भाव को साफ़ तरीके से देखा जा सकता था ।
*ब्रह्मा* ने कुछ पूछना जरुरी नहीं समझा और तुरन्त बाहर की और दौड़ा ।

बाहर जाके के देखा तो घर के सामने सड़क पर भीड़ बहुत थी और लाश की जगह पर सिर्फ *चीथड़े* पड़े थे ।

*सिर* पूरी तरह से बर्बाद हो चुका था ।
सीना से लेकर घुटना तक पूरा शरीर खून से लाल हो गया था । घुटने से नीचे के पैर घुटने से अलग  थे। *ब्रह्मा* भाई ये सब देखकर वहाँ रुक न सके और सीधा घर आ गए ।
 बाहर पुलिस आ चुकी थी ।

*ब्रह्मा* भाई को रात के सपने और अभी एक लाश देखकर बहुत बुरा लग रहा था । उन्हें कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था ।फिर भी वे मन मार कर नहाने चले गए ।

पर ये क्या बाथरूम से किसी की बात करने की  और विस्फोटकारी आवाजे आ रही है । विस्फोटकारी तो समझ गया ।😂😂😂
पर किसी से बात 🤔🤔

*ओह समझा*

मूड ठीक करने का अच्छा तरीका है *बी ब्रो* पर कभी तो फुर्सत दिया कीजिये बेचारे फोन और हमारे खूबसूरत भाभी जी को ।

"" *अरे बमु बेटा*  इतनी सुबह - सुबह किससे बाते कर रहे हो , जल्दी से तैयार हो जाओ खाना तैयार है और वो उस लाश का क्या हुआ "" *माँ* ने ब्रह्मा से कहा जो की नहा चूका था ।

""किसी से नहीं मम्मी (😂😂) ,बस तैयार हो गया हूँ सिर्फ पूजा करना बाकी है और पता नहीं किसकी लाश है "" *बी ब्रो* ने अगरबत्ती जलाते हुये कहाँ ।

और पहुँच गए बासुदेव और माता लक्ष्मी के पास & उसके बाद उनकी जुबान खुली -- हे भगवान् और माता शुप्रभात ।आज मै बहुत दिल से पूजा कर रहा हूँ ।plz मेरी बातों को अच्छा से सुनना ।किसी तरह उसके पापा को मना दो ।अरे दुकानदार हूँ तो क्या हुआ daily की income 6000+ है(😳😳) ।उनकी बेटी को मै उनसे भी ज्यादा खुश रख सकता हूँ और मेरे मोटे
शाले और सटकी की दोस्ती plz तुड़वा देना। सटकी मुझे रोज रोज धमकी देकर अपना data चार्ज मुझ से करवाता  है और भाभी के लिए सब सामान मेरी दुकान से मुफ़्त में ले जाता है आजकल तो पादू और संजय को भी शक हो रहा है कही वो सटकी से ये राज जान न ले ।और उस कबीर की शादी ऋचा से plz मत करवाना कमबख्त उसका ससुर करोडपति है  ।

*ये* पूजा लगभग आधे घण्टे तक चलने वाली थी की तभी दरवाजा खतखटाने की आवाज आई  ।

बाहर जाकर देखा तो police आई हुई थी उस लाश के समंध में पूछताछ करने लिए ।

*बी ब्रो* ने उन्हें बताया की उन्हें इस लाश के बारे में कुछ नहीं पता ।तभी बातचीत के दौरान एक हवलदार ने इंस्पेक्टर से कहा - साहब , कही ये काम वो पागल की टोलियों का तो नहीं है ?
*इंस्पेक्टर* ने हवलदार को कहा -- हो सकता है *'*रामने *'* और MR ब्रह्मा हमलोग अभी जा रहे है अगर जरूरत पड़ी तो आपको बुला लेंगे ,ओके आप अपना ख्याल रखियेगा MR ब्रह्मा ।

"पर साहब वो सब पागल तो पागलखाने में बन्द है " जाते हुए हवलदार की ये बात *बी ब्रो* ने सुनी।

खाना खाने के बाद *बी ब्रो* दूकान के लिए बहुत जल्दी निकले ।
क्योकि सुबह सुबह "मॉर्निंग वाक" करते हुये देवीयों के दर्शन करने से *बी ब्रो* का दिन अच्छा जाता है ऐसा बी ब्रो का मानना है ।

दूकान में *बी ब्रो* को ये ख्याल आया की मेरे घर के सामने किसी का खून हो गया है और अभी तक किसी ने मुझे कॉल नहीं किया जरा देखू तो क्या बात है ।
*बी ब्रो* ने सबसे पहले *कबीर* भाई को कॉल किया पर उन्होंने *रिसीव* नहीं किया ।
इसी तरह बारी बारी से *प्रिंस अभिराज प्रदीप संजय* को कॉल किया पर किसी ने रिसीव नहीं किया ।
वो अभी किसी और को कॉल करने ही वाली थे की उनके दूकान में एक खूबसूरत भाभी आई ।

*बी ब्रो* - हाँ भाभी जी क्या सेवा करूँ ?
*भाभी* - सेवा मत करो, लिपस्टिक दो ?
*बी ब्रो*  ने लिपस्टिक दी और अपने गाल में हाथ रखते हुये बोले - check भी करना है क्या ?
*भाभी* -😳😳
*बी ब्रो* - वो ... वो आइना उधर है ।
😂😂
आज की दिन दुकानदारी औरभाभी से बात करने में बीत चुकी थी , *मै और मेरे वहसी दोस्त* लिखने के चक्कर में रात के 10 बज रहे थे ।
""इस कहानी में तो *सटकी* और *प्रदीप* की  पूरी बजा के रख दूंगा ।
कमीने हमेशा *भौजी भौजी* चिल्लाते रहते है ।और वो बुढ्ढा *कबीर* तो वैसे भी हल्क की शरीर लिए खुद को *पीटर पार्कर* समझता है और ऊपर से सिर्फ बेटियो वाली ससुर के पीछे पड़ा है इसकी तो पूरी इज्जत उतार कर नीलाम करूँगा ।कमीने *प्रिंस* को कैसे छोड़ूंगा जिसने मेरी लिपस्टिक check करवाते हुए वीडियो बनाई थी और उस *संजय* का तो रायता बना के रख दूंगा जिसने मेरी वोटर कार्ड वाली फ़ोटो FB पर पोस्ट की थी । और भी बहुत गंदे गंदे ख्याल को मन में सोचते हुए *बी ब्रो* मग्णथे कहानी लिखने में ।


तभी अचानक
उन्हें अपने दोस्तों का ख्याल आया ,उन्होंने कॉल घुमाया पर किसी ने रिसीव नहीं किया ?


*माँ* डिनर के लिए बुला चुकी थी ।

. *माँ* के हाथो के मजेदार खाना को खाने के पेट की size को बढ़ाकर *बी ब्रो सोने चले गए ।

सुबह फिर *माँ* *बी ब्रो* को हड़बड़ाते हुये उठा रही थी -- *बमु बमु* आज फिर किसी की लाश पड़ी है बाहर सड़क पर जल्दी उठ पुलिस वाले आये है ।
*क्या* - ब्रह्मा भाई अचम्भित होते हुये बोले उन्हें कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था ।

फिर भी वे पुलिस वाले के पास गए और कहा -- "क्या बात है इंस्पेक्टर साहब ??"
""आप और आपका पूरा परिवार आधे घण्टे के बाद , आपके पड़ोसी शर्मा जी के घर आइये । हमे आपसे और आपके सभी पड़ोसियों से बात करनी है ।यहाँ पर किसी एक पुरे परिवार की जान को खतरा है ।आपलोग आधे घण्टे में आइये । इतना कहकर इंस्पेक्टर साहब चले गए ।

*ब्रह्मा भाई* ने बाहर जा के देखा आज भी लाश के सिर्फ चिथड़े नज़र आ रहे थे ।

आधे घंटे बाद जब *बी ब्रो* शर्मा जी के घर पहुँचे तो *इंस्पेक्टर* अपनी बात शुरू करने ही वाले थे ।

*इंस्पेक्टर* ने बोलना शुरू किया -- आपके मोह्हले में पिछले दो दिनों से दो कत्ल हो चुकी है ,जबकि हमे अभी तक मरने वाले का नाम तक नहीं पता पर जिस तरीके से ये कत्ल किया गया है मुझे उससे लगता है ये फिर से किसी नई *पागलों की टोली*  के द्वारा किया गया है ।क्योंकि इतने बुरे तरीके से कोई आम इंशान किसी का खून नहीं कर सकता ।

""सर जी नई टोली से मै आपका मतलब नहीं समझा सर जी "" *शर्मा जी के छोटे लड़के ने ये कहा*


नए  से हमारा मतलब किसी नए पागलों की टोली से है पिछले दो महीनों में हमलोगो ने बिल्कुल इसी तरीके से कत्ल करने वाले दो पागल कातिलों की टोलियों को पकड़ा है ।अगर आपलोगो को कोई मानसिक रूप से विछिप्त इंशान आपके मोह्हले में दीखता है तो plz हमे सूचित करे क्योकि जैसा की पिछले दो मामलो में हुआ है उससे लगता है यहाँ पर किसी पुरे परिवार के सभी लोगो की जान को खतरा है  । *इंस्पेक्टर साहब ने लंबी गहरी सांस लेते हुये कहा*

मानसिक रूप से विक्ष्पित इंशान *ये कहते हुये मोह्हले की सलोनी भाभी बी ब्रो की और देखने लगी*
 ये देखकर सभी लोग हँसने लगे ।



""देखिये आपलोग हँसना plz बंद कीजिये यहाँ पर बहुत सारे लोगो की जान खतरे में है , पिछले दोनों मामलों में हमें कुछ *पैरानॉर्मल एक्टिविटीज़* नज़र आये थे और तभी से हमारे साथ पैरानॉर्मल एक्सपर्ट *रेणुका* जी है , वो आप सभी लोगो से कुछ बात करना चाहती है ।"" इंस्पेक्टर ने कडक आवाज में एक खूबसूरत महिला से सब को मिलाते हुए कहा ।

*वाह क्या मस्त.....* आदत से मजबूर बी ब्रो की पूरी बात हम सुन नहीं सके क्योकि तभी रेणुका जी ने बोलना शुरू किया -
सबसे पहले
आप सभी को मै पिछले दो मामलों के बारे में बताना चाहूंगी।

पहला मामला है *राज +2 हाई स्कूल* का जहाँ पर 10th क्लास के 3-4 छात्र अपने कुछ जूनियर के समूह का खूब मजाक उड़ाया करते थे । चाहे स्कुल हो या खेल का मैदान ,कोचिंग , कैंटीन ,दुकान यहाँ तक की सोशल साइट्स पर भी वे 3-4 छात्र अपने जूनियर्स का खूब मजाक उड़ाया करते थे । सीनियर्स में जो सबसे ज्यादा मजाक उड़ाया करता था उसका नाम *सूरज* था और अचानक एक एक करके सूरज के तीनो दोस्त तीन दिन में गायब हो गए जबकि सूरज के घर के सामने प्रतिदिन एक एक लाश मिल रही थी वो भी बहुत बुरी हालत में ,उन लाशों का पहचान करना बहुत मुश्किल था जबकि चौथे दिन *सूरज* की भी बड़ी बेरहमी से क़त्ल हुआ इतनी बेरहमी जितनी की मै बता भी नहीं सकती ।

सूरज का दिल , आँखे , किडनी , फेफड़े , पेट  सभी निकाल दिए गए थे और उसके लाश के बगल में 6 लोग बैठे थे और सूरज के लाश से खून पीते हुए पागलों की तरह हँस रहे थे।

बाद में पुलिस ने जब उन्हें पकड़ा तो पता चला वे 6 छात्र वे जूनियर्स ही थे जिनका मजाक सूरज और उनके साथी उड़ाया करते थे ।


जबकि तीन दिन में मिलने वाले वे सभी लाश सूरज के उन तीन साथियों की ही थी। वे सभी 6 छात्र अभी पागलखाने में है तथा उन्होंने कत्ल करने का वजह अभी तक नहीं बताया है ।


दूसरा मामला ""फाइंडर स्टार्टअप"" का है जिसमे 7 दोस्त  मिल कर काम कर रहे थे और इस स्टार्टअप में सारा पैसा *रोहन और राज* ने लगाया था जिस कारण वे बाकि सभी दोस्तों को हमेशा कोसते रहते थे , हमेशा उनका मजाक उड़ाया करते थे उन्हें गरीब गरीब कह कर चिढ़ाया करते थे ।

और फिर एक दिन अचानक राज ग़ायब हो गया और उसी दिन रोहन के घर के सामने विछिप्त हालत में एक लाश मिली और दूसरे दिन रोहन की भी बुरे तरीके से कत्ल हो गयी ।

और उसके लाश के साथ उसके बाकी के 4 साथी बैठ कर रोहन के भीतरी अंगो के साथ खेल रहे थे और पागलों की तरह हँस रहे थे ।
बाद में पता चला की रोहन के घर के सामने मिलने वाली लाश राज की थी ।

जबकि उनके बाकी के साथी अभी पागलखाने में है किन्तु कत्ल का कोई भी ख़ास वजह पता नहीं चला ??





*कहानी जारी है.....*

Post a Comment: