Saturday, 19 March 2016



नागराज अमेरिका के लिये निकल चुका था पर सोचें अब तक उस फोन काल पर थी!!!"कौन हो सकती हे एडा और केसे उसके बारे मे जान सकती हें??"
उसके विचारों को ब्रेक लगा जब प्लेन airport पर लेंडिंग कर गया!!!!
वहाँ भी उसकी निगाहें उस हसीना को ढूँढ़ रही थी जो उसका राज़ जान चुकी थी!!लेकिन....??
उसने बाहर texi के लिये आवाज़ लगाई तो सामने "AC propulsion tzero"(एक स्पोर्ट कार) आकर रुकी!!
उसे एक बेहद खूबसूरत लड़की चला रही थी!!!
"मि.नागराज,चाहें तो आप अंदर बेठ सकते हें!!!"नागराज उस कार और उस लड़की को देखता रह गय़ा!!!
वो लड़की उसे सच मे बहुत खूबसूरत लगी!!!
"चिंता मत कीजिये,आपकी टीम आ जायेगी!!!"लड़की बोली!!!!
नागराज की तंद्रा टूटी!!!!वो कार मे सवार हुआ!!!!
"मुझे एडा रौश कहते हें,मेंने ही आपको फोन किया था!!"लड़की बोली!!
"आप केसे जानती हें....."नागराज ने कहना चाहा!!
"स्नेक आई काफी फेमस एजेन्सी हें..."
"ओह्ह्ह"नागराज ने चैन की साँस ली !!!
"और नागराज भी!!!"एडा ने वाक्य पूरा किया!!!
"कमाल हें न!!मेंने सिर्फ आपकी एजेन्सी की मदद माँगी और नागराज की फ्री मे मिल रही हें!!"एडा बोलती रही!!!
"लेकिन इसमे नागराज कहाँ हें??"नागराज बोला!!!
"मेरे साथ बैठा हें!!"एडा बिना उसकी तरफ़ देखे बोली!!"क्या सोच रहे हो,??कोई झूठ??कोई बहाना??जो इस वक्त याद नही आ रहा!!"
"नही,ये सोच रहा हूँ कि तुम ये सब केसे जानती हो??"नागराज उसकी तरफ़ गहरी नज़रों से देखता बोला!!!
"जानकर खुशी हुई कि तुम ज्यादा झूठ नही बोलते!!"उसका ध्यान अब भी ड्राइविंग पर था!!"स्नेक आई को जिसकी हिफाजत करनी हें तुम उससे जल्द मिलौगे नागराज!!!!"

सी आई ए हेडक्वाटर
ध्रुव और श्वेता को कॉफी सर्व की गई!!!
रात शांतिपूर्वक गुजर गई और श्वेता से कोई सवाल नही किया गया!!उन्हे एक रुम दिया गया था रहने को जिसमें सारी सुविधाएँ मौजूद थी!!!
लेकिन सुबह एक "निशा"लेकर आई!!
निशा राणा:-(एक युवा,खूबसूरत और तेजतर्रार सी आई ए एजेन्ट)
"गुड मॉर्निंग मि.ध्रुव एन मिस श्वेता!!आई होप कि आपको यहाँ अब तक कोई दिक्कत पेश नही आई होगी और अगर आई तो मे उसके लिये माफी चाहती हूँ!!!"करीब आती वो बोली!!
"सच कहूँ तो यहाँ आने के बाद पहली बार कोई अच्छे इंसान से मुलाकात हुई हें!!"ध्रुव बोला!!
"मेरा नाम निशा हें और आप भी मुझे निशा बुला सकते हें!!"उसने दोनो से हाथ मिलाया!!


"तुम काफी फनी हो निशा!"श्वेता बोली!!
"क्यूकि गुस्से मे मैं अच्छी नही लगती"वो हँसते हुई बोली!!
"तुम सच मे अच्छी इंसान ही निशा!!"ध्रुव भी हँसा!!"मुझे लगा था सारे लोग हमेशा गुस्से मे ही रहते हें!"
"वो गुस्से मे नही हें बस चिढ़ गये हें क्यूकि हमारे साथी की मौत की वजह अब तक जिंदा घूम रही हें!!"संजीदा होती निशा बोली!!
"और वो वजह कौन हें..??"ध्रुव बोला!!
"श्वेता,जो तुम्हारी बहन हें!!"थोड़ा रुककर बोली निशा!!!
"मुझे लगा ही था कि तुम जो दिखा रही हो वो नही हो,पहले अच्छी बनो फ़िर वो दिखाओ जो तुम सच मे रखती हो!!"ध्रुव लगभग नाराज़ होता बोला!!
"सबूत उसके खिलाफ हें ध्रुव!!"निशा उसे समझाती बोली!!!
तभी बाहर टायरों के चीखने की आवाज़ आई!!
अन्दर आने वाली शख्सियत को देखकर ध्रुव का मुँह खुला रह गया!!अन्दर आने वाली एडा थी!उसने रेड कलर का गाऊन पहन रखा था!!जिसमे वो बेहद खूबसूरत दिख रही थी!!
एडा रौश:-(एक खूबसूरत,युवा,गुस्सैल और तेजतर्रार एजेन्ट!ऐसा कोई मिशन नही जिसमे कोई खून ना बहाया हो,इसलिए कोड्नेम मिला"blood queen"!शायद ही ऐसा कोई गेजेट्स हो जो उसने यूज ना किया हो!!सहनशील, अगर डोगा के मुँह से उफ़्फ़ नही निकली आज तक तो एडा के मुँह से कराह भी आज तक किसी ने नही सुनी!वो जब तक किसी को खुद पर वार करते नही देखती उसका वार महसूस नही करती!!)
उसने एक नज़र ध्रुव पे डाली और निशा से मुखातिब हुई!!
"क्या नाम हें इसका.?"
"श्वेता!!"
एडा नागराज की तरफ़ पलटी"मि.शाह इस लड़की की जान की हिफाज़त अब आपको करनी हें!!"
"लेकिन...."ध्रुव ने बोलना चाहा!!
"लुक मि.,मुझे बहस पसंद नही हें,ऐसा करने से मुझे गुस्सा आता हें और जब मुझे गुस्सा आयेगा तो तुम मुझे पसंद नही करोगे"उसका स्वर तल्ख होता चला गय़ा !!!फ़िर निशा से बोली"मुझे वो सबूत दिखाओ"
निशा ने वीडियो केसेट एडा की तरफ़ बढायी!!
"क्या मे भी इसे देख सकता हूँ"नागराज करीब आता बोला!!!
"मुझे साँप और इन्सानों की गन्ध से सख्त नफरत हें!"उसके हाथ मे केसेट थमा के बोली"तुम देख लो,तुम्हे पता होना चाहिए जिसकी हिफाज़त कर रहे हो उससे खुद की हिफाज़त केसे करनी हें!!"
वो एक कमरे की तरफ़ बढ़ गई!पीछे निशा भी उस कमरे मे दाखिल हुई!!!
"तुम्हे नही लगता कि जिस लहजे मे तुमने ध्रुव और मि.शाह से बात की,वो गलत था!!"निशा संयमित स्वर मे बोली!!!
"तुम्हे नही पता कि वो दोनो मुझे किस तरह देख रहे थे!!"एडा थोड़े नाराज़ लहजे मे बोली!!!
"तुम्हारी ड्रेसिंग सेन्स हें ही कमाल की!"निशा व्यंग कसते हुए बोली!!!
"अच्छा,अब मुझे तुम से सीखना होगा ड्रेसिंग सेन्स!!"एडा उसकी तरफ़ देखती बोली!!!
"अरे नही-नही,मे कहाँ सीखा सकती हूँ!"निशा दूसरी तरफ़ देखने लगी!!!
एडा उसके करीब आती बोली"I m sorry लेकिन तुम जानती हो कि मुझे इन्सान नाम की चीज़ से ही नफरत हें!!"
"वही तो मे कह रही हूँ की अतीत मे बुरे लोग थे तो ज़रूरी नही कि वर्तमान भी बुरे लोगों से भरा हें!!"निशा उसके कंधे पर हाथ रखती बोली!!
"तुम्हे पता हें कि अगर ये हाथ किसी और ने मेरे कंधे पर रखा होता तो......"

"तो तुमने उसके कंधे से हाथ जुदा कर दिया होता,हें न??तुम ऐसी क्यों बनती जा रही हो जो तुम नही हो!!!"निशा उसकी बात काटती बोली!!
"मतलब क्या हें तुम्हारा...??"एडा गुस्से मे बोली!
"मतलब ये हें कि जो अतीत मे हो चुका हें उसे भूल जाओ!!अतीत मे बुरे लोग थे तो ज़रूरी नही कि वही लोग या वेसे ही लोग प्रेज़ेंट मे भी हो!!"निशा का स्वर धीमा लेकिन मजबूत था!!!
एडा आपा खो बैठी"बस बहुत हुआ निशा,तुम मेरे बारे मे सब कुछ जानती हो इसका मतलब ये नही कि तुम्हे मेरे अतीत के बारे मे बोलने का हक हें!!"कहते हुए उसकी आँखों मे आँसू छलक आये!!
निशा के मुँह से बोल नही निकल सके!!! उसने पहली बार एडा कि आँखों मे आँसू देखे!!उसे लगा कि उससे बहुत बड़ा अपराध हो गया हें!!!
"आ...आ...आई..ए..एम..स..सॉरी..एडा,,मुझे माफ कर दो!!"निशा की आँखों मे भी आँसू छलक आये!!!उसने आगे बढ़कर एडा को गले लगा लिया!!

"दो चीजें हें जो जिंदगी के बाद ही ख़त्म होती हें!एक प्यार और दूसरी बदला!!!"
New jersey
club fox
केविन और केन एक टेबल पर बैठे वोदका का आनंद ले रहे हें!!
केन बोला"कल तो एडा ने तुम्हारी insult कर दी,तुम्हारे गिरफ्तार किये मुजरिम को निशा को सौंप दिया!!"
"कोई भी मेरी insult नही कर सकता,समझे तुम??"केविन थोड़ा गुस्से मे बोला!!
"अच्छा,हाहाहा,"
"तुम हँस क्यों रहे हो??"
"कुछ नही,वोदका पियो न यार"
तभी गेट पर श्वेता नज़र आई!!केन ने पी हुई शराब केविन के मुँह पर उलट दी!!!
"what the **** is that"केविन को गुस्सा आ गया था!!!
केन ने गेट की तरफ़ इशारा किया!!
"इसे केसे छोड़ दिया एडा ने"केविन ने हैरानी जताते हुए कहा!!!
श्वेता ने मुस्कराकर उनकी तरफ़ देखा और उनकी तरफ़ ही बढ़ चली!!
दोनो खड़े हो गये!!!श्वेता बोली(इटालियन भाषा)"हाई केविन और केन,केसे हो??"
दोनो थोड़ी देर के लिये सकपका गये!!"ये कौन सी भाषा बोल रही हें"केविन बोली!!
केन अपने कान का ट्रांसलेटर ठीक करता बोला"इटालियन"
"तो तुम्हे गुस्सा बहुत आता हें न,केविन??"(इटालियन भाषा)श्वेता के हाथ उसके सीने पर फिरने लगे!!
केविन कुछ करता उसके पहले ही श्वेता का हाथ उसके सीने मे आरपार घुस गया और एक झटके मे ही केविन का दिल श्वेता के हाथ मे धड़कता नज़र आया!! ये सब कुछ ही सेकंड मे हो गया!!केन ने ये देखते ही अंधाधुंध गोलियाँ चलानी शुरु कर दी!!लेकिन गोलियाँ श्वेता को लगने की बजाय आरपार होती हुई पीछे बारटेंडर और कुछ कस्टमर्स को लगी!!केन घबरा गय़ा!!श्वेता उसकी तरफ़ बढ़ी और उसके सीने पर हाथ रखती आरपार हो गई!!केन ज़मीन पर जा गिरा!!श्वेता के हाथ मे केन का दिल धड़क रहा था!!!श्वेता ने आरपार होते वक्त उसका दिल थाम लिया था!!!
Hilton americas,houston
1600 lamar,houston,texas
आज इस होटल की सुरक्षा देखकर लगता हें जेसे White house यहाँ शिफ्ट होने वाला हो!!!"स्नेक आई"एजेन्सी आज पूरी तरह अपने काम मे लगी हें!! परिंदे को भी पर मारने की इजाजत नही हें!!!लेकिन फोन को बजने का पूरा हक हें वो भी किसी भी समय!!
रात के 1:45 बजे
श्वेता का रुम मे,जो कि ग्राउंड फ्लोर पर ही हें,फोन बजा!!
"हलो,?"उनींदी आवाज़ मे श्वेता ने पूछा!!
"श्वेता,मे रिचा बोल रही हूँ"घबराई आवाज़ मे जवाब मिला!!"सुनो,ध्रुव की जान को खतरा हे!!!मे जानती हूँ तुम कहाँ हो,और संयोग से मे भी उसी होटल मे हूँ!!!क्या तुम मुझसे अभी मिल सकती हो!!"
श्वेता को ये सब एक नाटक लगा,इसलिए वो बोली"कौन रिचा,मे जिसे जानती हूँ,वो houston मे नही रहती और न ही इतनी रईस हें कि वहाँ के ग्रेन्ड होटल मे रह सके"
"देखो श्वेता,मे अभी नही बता सकती कि मे यहाँ केसे हूँ बट प्लीज़ बिलीव मी यार!!"रिचा का स्वर नराज होने लगा!!
"सॉरी,रौंग न."श्वेता ने फोन रख दिया!!
"पता नही अब इनके दिमाग मे क्या चल रहा हें मुझे फँसाने के लिये"वो मन ही मन सोचने लगी!!!


सुबह हुई और श्वेता का ध्यान रात की काल पर गया!!वो रिसेप्शन पर पहुँची!!!
"हलो,"वो मुस्करा के बोली"क्या आप मुझे बता सकती हें कि मिस रिचा किस फ्लोर पर रुकी हें??"
रिसेप्शनिस्ट ने उसे गौर से देखा!!
"क्या आप फ़िर से मिलना चाहेंगी,मिस??"वो कन्फ्यूज लगी!!
"क्या मतलब??"श्वेता के नेत्र फेले!!
"Nothin' ma'm,sorry"वो सकपकाते हुए बोली!फ़िर कम्प्यूटर पर देखकर बोली"3rd floor,room no.369"
"थेंक्स,"श्वेता वहाँ से रुखसत हुई!!
बाहर एक और श्वेता कॉरीडोर से निकलती हुई सड़क पर आई!!उसने texi ली और वहाँ से चल दी!!लेकिन वो ध्रुव कि नज़र मे आ गई!!ध्रुव ने उसका पीछा एक texi से करना शुरु किया!!!
दूसरी तरफ़ श्वेता रुम न.369 पर पहुँची!!दरवाजा अन्दर से लॉक था!!दो बार दरवाजा नॉक्क करने के बाद उसका धैर्य जवाब दे गया!!वो दरवाजा तोड़ने ही वाली थी कि तभी वहाँ एडा पहुँची!!!
"क्या कर रही हो यहाँ...??"अचानक आई इस आवाज़ से श्वेता चौंक गई!!
"क..क...कुछ नही..कुछ भी तो नही...!!"लडखड़ाते शब्दों मे उसने कहा!!!
"दरवाजा खोलो..!"एडा ने एक साथी से कहा!!
दरवाजे के खुलते ही एक बहुत तेज खुशबू का झोंका उनकी नाक से टकराया!!अन्दर घुसते ही वहाँ का दृश्य देखकर सबके होश उड़ गये!!सामने बेड पर रिचा मुँह के बल पड़ी थी!!पीठ के कपड़े इस तरह फटे थे कि पीठ के जख्म साफ नज़र आ रहे थे!!शायद उसका भी दिल खींच लिया गया था!!
श्वेता तेज गति से खिड़की की तरफ़ बढ़ी,ये देखने कि क्या कोई आसपास हें,
लेकिन एडा ने उसे रोका"भागने की कोशिश मत करो,वरना मेरी एक गोली ही तुम्हारा भेजा बाहर कर देगी!!"
श्वेता रुकी!"बट मे यह देखने जा रही थी कि कही वो आसपास तो नही"वो करीब आती बोली!!
"कही बाहर नही,मेरे सामने हें!!!"एडा पूर्ववत लहजे मे बोली!!"तुम्हे चौथे सी आई ए एजेन्ट के कत्ल के जुर्म मे गिरफ्तार किया जाता हें"
श्वेता सन्न रह गई!!रिचा सी आई ए एजेन्ट थी!और वो खुद चार कत्ल के जुर्म मे फँस चुकी थी!!
"लेकिन मेंने कोई कत्ल नही किया,believe me"श्वेता चिल्लाई!!
"चिल्लाने से कुछ नही होगा,कुछ होगा तो ये कि मुझे गुस्सा आयेगा,और मुझे गुस्सा आया तो तुम मुझे पसन्द नही करोगी!!" एडा गुस्से मे बोली!!"शुक्र मानो कि मे एडा हूँ,डोगा नही,वरना अब तक तो मुझे तुम्हारी खोपडी खोल देनी चाहिये थी!! गिरफ्तार कर लो इसे!!"
दूसरी तरफ़ ध्रुव कि texi श्वेता कि texi के आगे आकर रुकी!!
"तुम यहाँ क्या कर रही हो,श्वेता..??"ध्रुव उसके सामने जा खड़ा हुआ!!
श्वेता बाहर निकली!!आखिर ध्रुव ने उसे पकड़ ही लिया था!!!!!
एक जंग शुरू होने वाली थी तो एक हो चुकी थी!!!
एडा कि नागराज के साथ!!
"कमाल की एजेन्सी हें आपकी मि. शाह,जो एक केदी को सम्भाल नई सकती!!"एडा नागराज पर बरस रही थी!!
"हमे उसे होटल मे रोके रखना था!!लेकिन होटल मे वो कही भी आ जा सकती थी और अगर उसे आने जाने से भी रोकना था तो ये बात आपको पहले कहनी चाहिए थी!!!"नागराज ने तर्क दिया!!!
"आई थिंक ही ईज राइट!!"निशा बोली!!
एडा ने उसे घुरकर देखा!वो चुप हो गई!!
"सी यू सुन!!"एडा चुनौती देते लहजे मे बोलते हुए वहाँ से रुखसत हुई!!!
बाहर आते ही उसका फोन बजा!!!
"Hello"वो बोली!"क्या.??"अचानक वो चौंक गई!!!!निशा की तवज्जो भी उसकी तरफ़ गई!!!"कहाँ??"उसका लहजा सर्द होता चला गया!!निशा उसकी बातें गौर से सुन रही थी!!!बात ख़त्म होने के बाद उसने पूछा"क्या हुआ??"
"किसी की लाश मिली हें जो हमसे और मेरे केस से जुड़ा हुआ हें!!"एडा भावहीन स्वर मे बोली!!!
"इसलिए बोलती हूँ एक साथ बहुत से केस मत लिया करो,अब क्या मालूम कौन हें वो!!!!!"निशा शिकायती लहजे मे बोली!!!
"चलते हें वही,पता चल जायेगा!!!"एडा ने सुझाव दिया!!!
houston beach

हद से ज्यादा भीड़ एडा के साथ साथ निशा को भी गुस्सा दिला रही हें!!!
"ये क्या चिल्लमचिल्ली हें यार!!!कोई joker खेल दिखा रह हें क्या??इतनी भीड़!!मुझे पता नही था houston मे इतने लोग रहते हें!!"निशा अपने फ़ेमस अंदाज़ मे बोली!!
एडा चुपचाप आगे बढ़ती रही!निशा उसे फॉलो कर रही थी!!!आगे भीड़ इतनी बढ़ गई कि पाँव रखने के लिये भी जगह नही हो सकी!!एडा ने हवाई फायर किया!!भीड़ ने इधरउधर भागना शुरु किया!!!
"अब क्या हुआ??खड़े रहो यहीं!!"एडा बोली!!"खड़े तो ऐसे थे जेसे इन्हें ही पोस्टमार्टम करना हें!!"
तभी नागराज भी वहाँ पहुँचा!!तीनों कि नजरे आपस मे मिली लेकिन किसी ने बातो मे वक्त जाया करना ठीक नही समझा!!लाश कि कॉस्ट्युम पीले और नीले रंग कि थी!!वो किसी लड़के कि लाश थी!!तीनो कि आँखे सिकुड़ी!! नागराज का दिल उसके आपे से बाहर होने लगा!!!किसी आशंका से उसका दिल घबरा रहा था!!लाश को सीधा किया गया और नागराज चीख पड़ा!!
वो लाश "ध्रुव"की थी!!!
राज़नगर का सितारा टूट चुका था!!!


Click Here To Download in PDF

Post a Comment: