Thursday, 24 December 2015

यह Data बनाया गया है,आपको जानकारी देने के लिए कि राज कॉमिक्स ने अपने सफ़र के हर साल में क्या-क्या उतार-चढ़ाव देखे हैं! 1986 में शुरू होने के बाद लगातार राज कॉमिक्स ने प्रकाशन जारी रखा है! इन 28 वर्षो में हज़ारो कॉमिक्स छापी गई हैं! उन्ही का एक हर साल का मोटा-मोटा खाका यहाँ तैयार किया गया है! जैसा कि आप देख सकते हैं कि शुरुआत में राज कॉमिक्स सिर्फ GENERALS कॉमिक्स छापती थी...जिसमे 40 पन्ने होते थे....लेकिन ऐसी सिर्फ कुछ ही कॉमिक्स थी...उसके बाद  28-32 पन्ने की कॉमिक्स आने लगी! 5 साल तक इसी तरह छापने के बाद 1991 में "नागराज और सुपर कमांडो ध्रुव" नामक कॉमिक्स से RC ने 64 पन्नो की कॉमिक्स की दुनिया से पाठको को रू ब रू करवाया!
पाठको को यह बहुत पसंद आया और RC ने उसके बाद लम्बी कहानियां देना शुरू किया! उस वक़्त तक स्थापित हो चुके हीरो कई बन गए थे..और उनकी कहानियां 30 पन्नो में समा नहीं सकती थी! 1993-2003 राज कॉमिक्स का स्वर्णिम दशक था! राज कॉमिक्स इन्ही 10 सालों में शिखर पर पहुंची! 2004 में राज कॉमिक्स ने GENERALS कॉमिक्स का प्रकाशन बंद कर दिया और पूरा ध्यान 60 पन्नो से अधिक की कहानियां देने पर लगाया! जिसके फलस्वरूप कई कमजोर कहानियां जो पहले 30 पन्नो में ठीक लगती थी..ज्यादा पन्नो में उबाने लगी! परिणामस्वरूप साल दर साल कॉमिक्स आने की गति कम होती गई! जहाँ पहले साल भर में 100 नई कॉमिक्स मिलना आम बात थी...अब 50 के नीचे आ चुकी थी!
2010 के बाद गिरावट का यह सिलसिला लगातार जारी है और आज राज कॉमिक्स साल में 20 नई कॉमिक्स का आंकड़ा भी नहीं छू पा रही!
2015 में एक बार फिर से राज कॉमिक्स ने GENERALS का प्रकाशन शुरू किया है!

Maximum - 1999
Minimum  - 2014

1986...............................38.......GENERALS.....=38

1987...............................44.......GENERALS.....=44

1988...............................89.......GENERALS.....=89

1989...............................73.......GENERALS.....=73

1990...............................72.......GENERALS.....=72

1991...............................28.......GENERALS.....+.....8.....SPECIALS.....=36

1992...............................44.......GENERALS.....+.....6.....SPECIALS.....=50

1993...............................110.....GENERALS.....+.....13.....SPECIALS.....=123

1994...............................65.......GENERALS.....+.....9.....SPECIALS.....=74

1995...............................94.......GENERALS.....+.....20.....SPECIALS.....=114

1996...............................90.......GENERALS.....+.....20.....SPECIALS.....=110

1997...............................97.......GENERALS.....+.....33.....SPECIALS.....=130

1998...............................105.......GENERALS.....+.....15.....SPECIALS.....=120

1999...............................97.......GENERALS.....+.....45.....SPECIALS.....=142

2000...............................78.......GENERALS.....+.....47.....SPECIALS.....=125

2001...............................65.......GENERALS.....+.....65.....SPECIALS.....=130

2002...............................46.......GENERALS.....+.....74.....SPECIALS.....=120

2003...............................11.......GENERALS.....+.....101.....SPECIALS.....=112

2004...............................103.....SPECIALS.....=103

2005...............................86.......SPECIALS.....=86

2006...............................68.......SPECIALS.....=68

2007...............................55.......SPECIALS.....=55

2008...............................52.......SPECIALS.....=52

2009...............................49.......SPECIALS.....=49

2010...............................55.......SPECIALS.....=55

2011...............................21.......SPECIALS.....=21

2012...............................20.......SPECIALS.....=20

2013...............................18.......SPECIALS.....=18

2014...............................15.......SPECIALS.....=15

2015...............................4.........GENERALS.....+.....9.....SPECIALS.....=13

Post a Comment: