Monday, 19 October 2015


 
नागराज,डोगा,परमाणु,भेड़िया,स्टील एक स्थान पर बैठे थे।
नागराज = यारो जब से ध्रुव की धुलाई की है वो नज़र ही नही आता । इतने दिन हो गए।
डोगा = नज़र कैसे आएगा मैंने उसकी डेढ़ होशियारी जो झाड़💪 दी। जब देखो तब ही होशियारचन्द बना फिरता था।
परमाणु = 😡अबे डोगा सारा क्रेडिट अकेला ही मत ले । हम सभी थे।
भेड़िया = हुँह😊

तभी एक खूबसूरत लड़की उनके सामने से निकलती है। उसे देखकर नागराज,परमाणु,डोगा,भेड़िया की आँखे उस पर टिक जाती है और सभी लार टपकाना शुरू कर देते है। 😍😍
स्टील = यह तुम उस तरफ क्या देख रहे हो और लार क्यों टपका रहे हो।
डोगा = टीन के पीपे यह बात तू नही समझेगा।
परमाणु = हाँ यह बात पेसमेकर वाले नही समझ सकते । इसके लिए दिल होना चाहिए। हीहीही😆😆
स्टील = (बुहुहु😢) यह सही बात नही है। मुझे भी दिल चाहिये मैं अनीस के पास जा रहा हु असली दिल लगवाने।
तभी लड़की उनकी तरफ इशारा करती है और बुलाती है।
सभी की बांछे खिल जाती है।
नागराज = देखो दोस्तों वो मुझे बुला रही है। मैं चला अपनी दाल गलाने।💞
डोगा = 😬ओये चुपचाप से पड़ा रहे वो मुझे बुला रही है।💖
भेड़िया = अबे आँख के अन्धो उसने मुझे इशारा किया है।
परमाणु = चल वे तेरी शक्ल देख कर तो वैसे ही डर गई होगी । वो तो पता नही बेचारी जेन तेरे चक्कर में कैसे पड़ गई ।अब तक भी वनवास काट रही है बेचारी।हीहीही😃😃
भेड़िया = अबे पतंगे तू हद से ज्यादा बोल रहा है। गुर्रर्रर😠😠
नागराज = तुम सब हद से ज्यादा बढ़ रहे हो । उसने केवल मुझे इशारा किया था। नही तो.....
डोगा = 😤 अबे नही तो क्या ?? अबे सारा आशिकी का ठेका तूने ही लिया है क्या । 3 तो पहले ही है।उन्हें तो सँभाल ले ।मुझ भोले भाले को देखो कभी 1 के आलावा किसी को नज़र उठा के नही देखा।
परमाणु = तो अब क्यों देख रहा है ।और तू देखकर भी क्या करेगा कुत्ते का मास्क देख कर कोई तुझे घास ही नही डालती। गुर्रर्रर्र
डोगा= अबे तेरी तो😤😤
भेड़िया = बकवास बंद करो।
डोगा= चुप बे भेड़िये, चला है आशिकी करने एक का प्यार तो समझ नही पाया दूसरी को जंगल में पटक रखा है।
भेड़िया = अबे कुत्ते के पिल्लै तूने मेरे अमर प्रेम का अनादर किया मैं तेरे खोपड़ी अपनी गदा से पिलपिली कर दूंगा। गुर्रर्रर😠
नागराज = हा तो आज हो ही जाये पता चल जायेगा कोन ज्यादा पावरफुल 💪💪है।
परमाणु = आज तो सब को धोकर रख दूंगा।
डोगा = बम से उड़ा दूंगा सब को।
भेडिया = गदा से सबको नरकवासी बना दूंगा आज तो।
सभी एक दूसरे पर पिल पड़ते है। (👊ढिशुम धाड़ धड़ ढिशूम 👊)
नागराज = आज किसी को नही छोड़ूंगा, नागराज से बराबरी करेंगे।
डोगा = मुम्बई के बाप को नीचा दिखाते है। गुर्रर्रर
परमाणु = सब को भस्म कर दूंगा।
भेड़िया = आज तो इनका कचूमर निकाल दूंगा। गुर्रर्र
सभी बहुत देर तक लड़ते रहते हैं।
थोड़ी देर बाद सब जमीन पर घायल पड़े होते है । कराहते हुए।
नागराज = आह सारी अकड़ निकल गई।
डोगा = उठने की भी ताकत नही है अब तो ।आह बुहुहु
परमाणु = मेरे तो अस्थि पंजर हिल गए।बुहुहु
भेड़िया = जिसके लिए हम सब आपस में लडे वो कहा है। बुहुहुहु😰
लड़की = मैं यही हु। मैं कहाँ जा सकती हूँ। अभी तो मेरा बदला बाकि है । तुम्हारे अस्थि पंजर तो मैं हिलाऊंगा अब । गुर्रर्र😠😠
नागराज = क्या मतलब??
इतने में लड़की ने अपनी बिग उतार दी फिर मास्क और मेकउप। जिसे देखकर सभी की आँखे बाहर निकल आई और उनके 😱😱 मुँह से एक ही नाम निकला "ध्रुव"
ध्रुव = हाँ मैं तुम लोगो ने क्या सोचा मैं तुम्हारी मार खाकर चुप बैठ जाऊंगा। देखा मेरे दिमाग का कमाल सभी को आपस में लड़ा दिया ।
डोगा = ध्रुव तुझे छोड़ूंगा नही मैं । गुर्रर्र
ध्रुव = अबे चुप । उंगली हिलाने की हालत तो है नही ।तुम सब मेरे रहमो करम पर हो । जो मैं बिलकुल नही करूँगा।
परमाणु = बुहुहुहु अबे पगला गया है क्या आपस में लड़ा कर यह हालत तो करवा दी अब क्या बच्चों की जान लेगा।
ध्रुव = अभी तो मेरा बदला बाकि है । 😆😆(हा हा हा हा) तो पेश है आप सभी की स्पेशल धुलाई भेड़िया की गदा से ।
भेड़िया = बुहुहु तेरे से गदा उठेगी ही नही । हीहीही
ध्रुव = हीहीही मुझे पता है पॉवर तेरे में नही तेरे आभूषणों में है। यह पहने मेने तेरे आभूषण और यह आई गदा । "हे भेड़िया देवता मदद"
नागराज ,परमाणु,डोगा,भेड़िया = नही !!!! हमे कोई बचाओ इस पागल के हाथो से । बुहुहुहु😲😢
ध्रुव = हिहिहिहि
फिर शुरू हो गई ध्रुव की स्पेशल धुलाई ।(धाड़ धड़ ) और साथ में सुपरहीरोज की चीखे भी ।😱
जब ध्रुव का मन भर गया । उसके बाद
सभी = आह्ह्ह्ह्ह्ह मार डाला कमीने ने । अंग अंग सूजा दिया ।पीटने में कोई कसर नही छोड़ी। अब हमारा क्या होगा । आह्ह्ह्ह्हब बुहुहुहु
ध्रुव = अभी तो तुम सब के लिए सरप्राइज बाकि है ।हीहीही
सभी एक साथ = क्या????
ध्रुव = हीहीही 😈😈 यह देखो तुम सब की GF । तुम सब जो लड़की को देखकर लार टपका रहे थे वो सब इन्होंने देखा है।हीहीही और अब इनका गुस्सा सातवे आसमान पर है। अब तो तुम सब गए काम से ।
सभी = बुहुहुहु नही । कमीने चारो तरफ से हमला करता है । मन नही भरा तेरा जो तीसरी बार पिटवाने के लिए इन्हें भी साथ लेकर आया था। बुहुहुहु
ध्रुव = हिहिहिहि क्या करू   अब बात मेरी बस की नही है । मुझे तो बहुत तरस आ रहा है। हाँ तो बहनो तुम क्या देख रही हो इन्होंने तुम्हारे होते हुए भी दूसरी लड़की पर अपनी नज़र डाली है । समझा दो इन्हें तुम्हारी अहमियत।  मैं  चलता हु । और हा मुझे सन्देशा जरूर भिजवाना की मेरे दोस्तों से मिलने हॉस्पिटल आऊ या फिर (हिहिहिहि) शमशान । हीहीही।

फिर सभी की gf शुरू हो गई सुपरहीरोज की आरती उतारने।
(ढिशूम धाड़ धड ढिशूम )
इसे कहते है ध्रुव का "ट्रिपल रिवेंज" ।
           
        END कैसा है यह आपको ही पता है (हीहीही)। कुछ ज्यादा ही पिट गए बेचारे।

Post a Comment: