Monday, 19 October 2015


   
नागराज , ध्रुव , परमाणु , तिरंगा , डोगा एक बगीचे मे आम🍋 के पेड़ के पत्थर मार कर आम तोड़ने की कोशिश कर रहे थे।
नागराज = यह आम🍋 बहुत रशीले लग रहे है।
ध्रुव = हाँ आज तो आम खाकर ही रहेंगे।
परमाणु = वैसे तो मैं उड़ कर आम तोड़ सकता हु पर पत्थर मारकर आम तोड़ने का मजा ही अलग है। हिहिहिहि😊😊
डोगा = मेरा निशाना तो एकदम सटीक हैं यह देखो मैं कैसे आम तोड़ता हूँ।😃😃हीहीही
(यह कहते हुए डोगा आम पर निशाना लगाकर पत्थर फेंकता है। पर निशाना चूक जाता है और पत्थर डोगा का ही लग जाता है। डोगा चारो खाने चित्त)
तिरंगा = वाह वाह !! क्या निशाना था । हिहिहिहि😆😆
ध्रुव = हीहीही😉😆😆 निशाना तो एकदम सटीक लगाया है डोगा ने , अपनी ही खोपड़ी फोड़ना तो कोई डोगा से सीखे। हीहीही
नागराज = हीहीही😆😆 मुझे पता नही था डोगा इतना बड़ा निशानेबाज़ है।
परमाणु = हीहीही डोगा आम🍋 कैसा था।
 डोगा का सिर घूम जाता है।
डोगा = तुम इतने सारे कैसे हो गए।
ध्रुव = लगता है कुछ ज्यादा ही जोर की लगी है।
डोगा = 🎵🎶मैं इदल चला..... मैं उदल चला... ताने कहा मैं किदल चला।🎶🎵
तिरंगा = यह डोगा को क्या हो गया है । यह गाना क्यों गाने लगा वो भी तोतली आवाज़ में।हीही
नागराज = लगता है यह चोट का असर है ।
ध्रुव = मुझे तो लगता है डोगा का फ्यूज़ ही उड़ गया है। हीहीही
डोगा = 🎵मैं फितल गया ..... यह दलुव (ध्रुव) तूने तया किया....🎶🎵
ध्रुव = अबे बावले मैंने क्या किया । जो किया है तूने ही किया है।
नागराज = मुझे लगता है इसका फ्यूज ही नही पूरा सर्किट बोर्ड ही फुक गया है। हीहीही😆
तभी डोगा परमाणु पर चढ़ जाता है।
डोगा = आज मैं उपल.... हाजमा नीचे...
परमाणु = गुर्रर्रर्रर😬 अबे ओ बावले नीचे उतर ।(परमाणु डोगा को पटक देता है।) और वो "हाजमा" नहीं "आसमां" होता है।
डोगा = आह्ह्ह्ह्ह्ह पलमानु ने मुझे मारा।बुहुहुह्😢😢
तिरंगा = इसको तो डॉक्टर को दिखाना पड़ेगा ।नही तो यह थोडा बावला तो है ही कहि पूरा ही न हो जाये। हीही😅😅
नागराज = इसे ब्रह्माण्ड रक्षक के हेडक्वाटर ले चलो।
डोगा = मैं तो पलमानु के उपल बैठ कर जाऊंगा। मोजी काते (खाते) हुए।
परमाणु = चल हट , मैं क्या तेरा प्राइवेट प्लेन हूँ जो हर बार मेरे पर लद जाता है। गुर्रर्रर्र😠😠
ध्रुव = कोई बात नही परमाणु अभी तो ले चल अगली बार मत लाना।
परमाणु = मैं आखिरी बार इसको ले जा रहा हु इसके बाद इसका बोझ नही उठाऊंगा।
ब्रह्माण्ड रक्षक हेडक्वाटर में
तिरंगा = मैंने डॉक्टर को फोन कर दिया है । वो कुछ ही देर मैं आ जायेंगे।
परमाणु = तब तक इस पागल को कौन संभालेगा ।
डोगा = गुर्रर्र😠😠 पातल किसको बोला।मैं तुझे पातल दिखता हूँ । मैं तेले को बम से उदा दूंगा।
ध्रुव = हेई डोगा ,तेरे को नही बोला।
डोगा यह सुनकर ध्रुव के एक थप्पड़✋ लगा देता है।
डोगा = तेले ते किसने पुता।
अचानक डोगा को कुछ याद आता है। और डोगा ध्रुव की कॉलर पकड़ लेता है।
डोगा = तू तो वही है न जितने मेले को तीन बाल माला था।गुर्रर्र😠
नागराज = डोगा यह क्या कर रहे हो छोडो ध्रुव की कॉलर ।
डोगा = अबे तपोले (संपोले) तेले से कितने बोला बिच में बोलने के लिए , तुपताप रह नही तो.....
परमाणु = (धीरे से) क्या नागराज करवा ली न बेइज्जती । चुपचाप तमाशा देख न ।हिहहिहि😆😆
डोगा = दलुव (ध्रुव) तुम्हे मैं ऐती तजा(सजा) दूंगा की तुम मुझे याद कलोगे।
(डोगा यह कह कर ध्रुव के बम पर पूरी पॉवर से लात मरता है। और ध्रुव चीखता हुआ गिर जाता है)
डोगा = अब तू मुझे उठते बैठते याद करेगा हीहीही😆😆
ध्रुव = (गुस्से से 😤😤) डोगा मैं तुझे नही छोड़ूंगा । गुर्रर्र
तिरंगा = ध्रुव रहने दे यह अभी ठीक नही है।
डोगा = तिलंगे यह तेले पास तया है। (डोगा न्याय स्तम्भ की तरफ इशारा करता है)
तिरंगा = यह न्याय स्तम्भ है इसमें से करंट निकलता ।
डोगा न्याय स्तम्भ ले लेता है।
डोगा = इसमें से ऐसे करंट निकलता है (और डोगा तिरंगा को करंट लगा देता है और रंग बिरंगा काला भूत बन जाता है।)
परमाणु = यह तो काला भूत बन गया। हीहीही😃😃
नागराज = डोगा हमें ऐसे ही परेशान करता रहेगा इसका ध्यान किसी और चीज पर लगाना पड़ेगा।
ध्रुव = डोगा यह देखो । बेट बॉल। चलो खेलते है।
डोगा = तलो तो खेलते है। मैले (मेरे) साथ लह कर तू भी समझतार हो गया है। मैं पहले बेतिंग कलुँगा।
फिर सभी क्रिकेट खेलने लग जाते है। बेटिंग डोगा करता है। बहुत देर तक खेलने के बाद
डोगा = मैं अब बेतिंग नही कलुँगा । मैं अब बोलिंग कलुँगा।दलुव (ध्रुव) तुम बेतिंग कलो।
ध्रुव बेटिंग करता है। डोगा बॉलिंग करता है।
(यह भागता हुआ आया डोगा और यह फेंकी उसने बोल । ध्रुव शॉट के लिए तैयार। ध्रुव ने बॉल को बैट से मारा और यह.... धमाका???)
नागराज = यह धमाका कैसे हुआ। बुहुहु
परमाणु = डोगा ने बोल की जगह बम फेंक दिया। हीहीही😆😆
ध्रुव = (गुस्से में 😤😤) अब में इस कुत्ते के पिल्लै को नही छोड़ूंगा। रुक तू ।
डोगा ध्रुव से बचने के लिए भगाता है।
डोगा = बताओ (बचाओ) दलुव से मुझे बताओ।

डोगा का हंगामा 2
     ===============
डोगा आगे आगे और ध्रुव पीछे पीछे ।
डोगा = बताओ बताओ (बचाओ)😲
ध्रुव = अबे भागता कहाँ है तू रुक मैं बताता हु तुझे। रुक तो सही। गुर्रर्रर्र😤😤
तभी डोगा का पैर किसी चीज में फंस जाता है और वह गिर जाता है।
डोगा = आह्ह्ह्ह😭 दलुव (ध्रुव) ने मुझे माला ।आह्ह्ह्ह्ह्
ध्रुव = 😯अबे मैंने कब मारा । तू तो खुद गिरा है।
डोगा = नहीईईई तुने ही माला है । अब झुत बोल लहा है। आह्ह्ह्ह्ह्😭
डोगा और जोर से रोने लगता है।
नागराज = ध्रुव तुमने डोगा को रुला दिया ना।
ध्रुव = नागराज तुम यह क्या कह रहे हो ।
परमाणु = ध्रुव थोड़ी देर के लिए अपनी गलती मान लो । हिहिहीही😊
फिर सभी डोगा को चुप कराने लग जाते है।
डोगा = आह्ह्ह्ह 😭😭दलुव ने कालू ते (से) सुपाली ली है। तभी इतने मुझे माला है।
तिरंगा = ध्रुव तूने किसी कालू से सुपारी ली है ???
ध्रुव = 😕अबे नही, मैंने किसी कालू से सुपारी नही ली। मैं तो किसी कालू को जानता भी नही।बुहुहुहु😰
नागराज = तुम दोनों चुप रहो । डोगा को चुप करो।
सभी डोगा को मनाने में लग जाते है।तभी डोगा का ध्यान नागराज की बेल्ट पर जाता है।
डोगा = यह तया है?
नागराज = यह मेरी स्नेक बेल्ट है। इससे मैं किसी से भी बात कर सकता हु।
डोगा = यह मुजे ताहिये।
नागराज डोगा को चुप करने के लिए बेल्ट दे देता है।और डोगा बेल्ट से खेलने लग जाता है।
तिरंगा = यह डॉक्टर अभी तक नही आया।
परमाणु = आता ही होगा।
कुछ देर बाद......

किसी की आने की आहट आती है।
नागराज = लगता है डॉक्टर आ गया।
पर तभी उन्हें डॉक्टर की जगह नज़र आता है....स्टील
ध्रुव = स्टील??? तुम यहां
स्टील = हाँ मैं,मैं तुम सब को गिरफ्तार करने आया हूँ।
परमाणु = क्या 😱😱??? गिरफ्तार ?? हमने क्या किया??
स्टील = तुम चारो पर एक मासूम बच्चे को पीटने , धमकाने , डराने, और ध्रुव तुम पर इनके आलावा बच्चे को जान से मारने की कोशिश का भी आरोप है।
ध्रुव = क्या?? किसने लगाये यह इल्जाम हम पर ?? गुर्रर्रर्रर😠
स्टील = मुझे यहाँ से बच्चे की कॉल आई थी उसने तुम सभी की शिकायत की है।
तभी डोगा आता है।
डोगा = यही है वो बतमाश जो मुझे माल लहे थे।
ध्रुव = अबे डोगा  फिर तूने झूठा इल्जाम लगाया । देखा नागराज इसने तुम्हारी बेल्ट से स्टील को कॉल किया है।गुर्रर्रर्र😬😬
डोगा = यह देखो यह मुजे अभी भी डला (डरा) लहा है।😦
स्टील = यह सब क्या हो रहा है।
नागराज = मैं सब बताता हु।
नागराज स्टील को सारी बात बताता है।
स्टील = हुंह यानि डोगा का दिमाग अपनी जगह से हिल गया है।
तिरंगा = हाँ
स्टील = और तुम सब ने इससे इसके हथियार भी नही लिए । तुम सब जानते हो ना डोगा के पास कितने खतरनाक हथियार होते है। अगर यह पागलपन में कुछ कर देगा तो???
नागराज = इस बात पर तो हमने ध्यान ही नही दिया।
स्टील = अब मैं ही हथियार💣🔫 ले लेता हूँ। (डोगा से) डोगा लाओ यह हथियार मुझे दे दो।
डोगा =लहि दूंगा।
स्टील = यह मुझे दे दो
डोगा = कहा न लहि दूंगा।
स्टील = यह हथियार💣 मुझे दे दो
डोगा = नही दूंगा। गुर्रर्रर्र
परमाणु = यह क्या कर रहे हो । यहाँ क्या शोले की शूटिंग चल रही है।
तिरंगा = डोगा तुम्हे आइसक्रीम 🍦चाहिए ।
डोगा = हा हा ताहिये तहिये
तिरंगा = तो लाओ यह हथियार🔫💣🔪 हमें दे दो।
डोगा = फिल पक्का आइतक्लीम🍦 दोगे।
स्टील = हाँ।
डोगा अपनी बन्दूक दे देता है।
स्टील = सारे हथियार दो ।
फिर डोगा अपने सारे हथियार💣🔫 निकाल कर उन्हें देता जाता है।
स्टील = हाँ यह भी दो , वो भी , मोज़े में से भी , दूसरा भी, वो सारे बम भी, वो चाकू🔪 भी , यह गोलिया भी , और वो अंडरवियर में जो बन्दूक🔫 छिपा रखी है वो भी दो।
ध्रुव = अबे छिछोरे किसके लिए बोल रहा है वो बन्दूक नही है ।
स्टील =मुझे लगा इसने अंडरवियर में बन्दूक छिपा रखी है। हीहीही😅😅
परमाणु = यह लो डोगा आइसक्रीम ।
डोगा आइसक्रीम खाने लग जाता है। तभी डॉक्टर आ जाता है।
डॉक्टर = कहा है मरीज???
ध्रुव = यह है (डोगा की तरफ इशारा करता है)
नागराज = डोगा यहाँ आओ यह तुम्हारा इलाज करेंगे ।
डॉक्टर डोगा का चेकअप करता है।
डॉक्टर = इंजेक्शन💉 लगाना पड़ेगा ।
परमाणु =ठोक दो??
इंजेक्शन का नाम सुनते ही डोगा आउट ऑफ़ कण्ट्रोल हो जाता है।
डोगा = नही मै इंतेकतन💉 नही लगाउँगा।
परमाणु = डॉक्टर मैं इसे पकड़ता हु आप तो इंजेक्शन ठोक दो।हीहीही
परमाणु डोगा को पकड़ता है और डॉक्टर इंजेक्शन लगाने लगता है। पर तभी डोगा परमाणु से कण्ट्रोल नही होता है। डोगा परमाणु को ही खिंच कर अपनी जगह पटक देता है और इंजेक्शन परमाणु के ही ठुक जाता है। डोगा भाग जाता है।
परमाणु = आईईईई मेरे ही इंजेक्शन ठोक दिया ।
डॉक्टर = तुम तो बोल रहे थे ठोक दो ठोक दो ।
ध्रुव = ज्यादा होशियारी झाड़ रहा था ठुकवा लिया ना खुदने ही। हीहीही
तिरंगा = इसे छोडो डोगा को पकड़ो । उसका इलाज तो करवाना पड़ेगा नही तो हमें ही परेशान करता रहेगा।
फिर सभी डोगा को पकने के लिए उसके पीछे पड़ जाते है। पर डोगा उनके हाथ नही आता । तभी डोगा की नज़र उसके ही हथियारों पर चली जाती है जो एक तरफ रखे थे।
डोगा = तुम सब मेले इंतेतन💉 थोक ने वाले थे न अब मैं तुम तब (सब) पल (पर) दम्बूक (बन्दूक)🔫 से गोलिया थोकुंगा
नागराज = अबे डोगा अच्छे बच्चे ऐसा नही करते । बन्दूक रख दे ।मेरे तो गोलिया असर नही करेगी पर बाकियो को लग जायेगी । इसलिए बन्दूक रख दे ।
डोगा = तया?? कोई बात नहीं अब मैं लोन्तल (लॉन्चर) से थोकुंगा। हीहीही
ध्रुव = तया 😱?? मेरा मतलब क्या?? अबे नागराज के बच्चे बड़बोला होना जरुरी है क्या । मरवा दिया ना गोलियों से तो बच भी लेते । अब लॉन्चर से कहा तक बचेंगे । गुर्रर्रर्र
परमाणु = अबे डोगा जिद नही करते । लॉन्चर रख दे । गलती से चल गया तो सब का पत्ता साफ हो जायेगा। बुहुहुहु
तिरंगा = हम तो शायद बच भी जाये अगर इसने लॉन्चर चला दिया तो यह ब्रह्माण्ड रक्षक की बिल्डिंग नही बचेगी। बुहुहुहु😓
डोगा = नही मैं तो तुम सब को थोकुंगा
यह कहकर डोगा ने लॉन्चर चला दिया
ध्रुव = अबे नहीईईई। बचोओओ

जैसा की हमारे तिरंगा महाशय ने कहा वो तो बच गए पर बिल्डिंग का क्रियाक्रम हो गया।और धमाके 💥से बिल्डिंग का एक उछला पत्थर का टुकड़ा डोगा के सिर पर लगा और उसका सरका हुआ भेजा वापस अपनी जगह पर आ गया ।
डोगा = आह्ह्ह यह क्या हो रहा है😯😕 यहां ।और यह ब्रह्माण्ड रक्षक के हेडक्वाटर की बिल्डिंग कैसे गिर गई।
नागराज = आह्ह वो एक तूफान आया था।
डोगा = इतना भयंकर तूफान तो मैंने कभी देखा ही नही ।
परमाणु = वो अभी हम दिखा देंगे। गुर्रर्रर😠
डोगा = पर मैं यहाँ कैसे आया ।हम सब तो आम🍋 तोड़ रहे थे ना । मैं तुम्हे अपना निशाना दिखा रहा था।
ध्रुव = अबे तेरे निशाने की तो ऐसी की तैसी गुर्रर्रर
डोगा = तुम क्या कह रहे हो मेरे तो समझ में नही आ रहा । छोडो यह सब चलो आम🍋 खाते है। मेरा निशाना देखना कैसे आम🍋 तोड़ता हु । हिहिहिहि
यह सुनकर सभी का पारा ऊपर चढ़ जाता है।
डोगा = त..तुम मुझे ऐसी नज़रो से क्यों देख रहे हो... मुझे तुम्हारे इरादे नैक नही लगते।
नागराज = पकड़ो लो इसे छोड़ना नही । गुर्रर्रर😠😤
डोगा भागते हुए " मैंने ऐसा क्या कह दिया जो तुम लोग इतना गुस्सा हो गए ।"
             
                     THE END

1 comments :